Anushka IAS Join Today For Sure Success
Anushka IASAnushka IASAnushka IAS
(Monday- Saturday)
anushkaiasudaipur@gmail.com
Anushka Marg, Sector 3, Udaipur

भारतीय रेलवे नवोन्मेष नीति- “रेलवे के लिए स्टार्टअप”

  1. GOI ने ‘नवोन्मेषकों’ को ‘समान हिस्सेदारी के आधार’ पर ‘मील का पत्थर-वार भुगतान’ के प्रावधान के साथ ₹ 1.5 करोड़ तक का अनुदान देने की घोषणा की है।
  2. ‘समस्या बयान कथन’ से लेकर ‘प्रोटोटाइप (आद्यरूप) के विकास’ तक की पूरी प्रक्रिया ‘निर्धारित समय सीमा’ के साथ ऑनलाइन की गई है ताकि पूरी प्रक्रिया को पारदर्शी बनाया जा सके;
  3. रेलवे में ‘आद्यरूपों के परीक्षण’ पर ध्यान दिया जाएगा;
  4. ‘आद्यरूपों के सफल प्रदर्शन’ पर ‘परिनियोजन को बढ़ाने’ के लिए ‘अधिक धनराशि’ प्रदान की जाएगी;
  5. ‘अन्वेषकों’ का चयन एक ‘पारदर्शी और निष्पक्ष प्रणाली’ द्वारा किया जाएगा, जिसे एक ‘ऑनलाइन पोर्टल’ के माध्यम से निपटाया जाएगा;
  6. विकसित ‘बौद्धिक संपदा अधिकार (IPR)’ केवल अन्वेषकों के पास ही रहेंगे।

विलम्ब से बचने के लिए संभागीय स्तर पर पूर्ण उत्पाद विकास प्रक्रिया का विकेंद्रीकरण किया जायेगा।

मुद्दे

  1. मई 2022 के महीने में, ‘क्षेत्र इकाइयों’ को ‘समस्या क्षेत्र’ प्रदान करने के लिए कहा गया था।
  2. इसके प्रत्युत्तर में अब तक लगभग 160 समस्या विवरण प्राप्त हो चुके हैं।
  3. प्रारंभ में, ‘नई नवाचार नीति’ के माध्यम से निपटने के लिए ’11 समस्याओं के विवरणों’ की पहचान की गई है और पोर्टल पर भी कर दिया अपलोड किया गया है:

  1. ब्रोकन रेल खोज प्रणाली ;

रेल तनाव निगरानी प्रणाली;

  • ‘इंडियन रेलवे नेशनल एटीपी सिस्टम’ के साथ ‘ ‘अंतर-संचालित उपनगरीय खंड’ के लिए ‘हेडवे सुधार प्रणाली’
  • ‘ट्रैक निरीक्षण गतिविधियों’ का स्वचालन;
  • ‘भारी ढुलाई वाले माल वैगनों’ के लिए ‘उच्च इलास्टोमेरिक पैड (ईएम पैड)’ का डिजाइन;
  • ‘3-फेज इलेक्ट्रिक लोकोमोटिव के ट्रैक्शन मोटर्स’ के लिए ‘ऑन लाइन स्थिति निगरानी प्रणाली’ का विकास;
  • नमक जैसी ‘वस्तुओं के परिवहन’ के लिए ‘हल्के वैगन’ विकसित करना;
  • ‘यात्री सेवाओं’ में सुधार के लिए ‘डिजिटल डेटा’ का उपयोग करके ‘विश्लेषणात्मक उपकरणों’ का विकास;
  • ट्रैक की सफाई करने वाली मशीन/उपकरण लगाना;
  • ‘प्रशिक्षण के बाद के संशोधन और स्वयं-सेवा पुनश्चर्या पाठ्यक्रमों’ के लिए ऐप; पुल निरीक्षण के लिए ‘रिमोट सेंसिंग, जियोमैटिक्स और GIS (भौगोलिक सूचना प्रणाली)’ का उपयोग

अपेक्षित लाभ

  1. यह नीति ‘एक बहुत बड़े और अप्रयुक्त स्टार्टअप पारिस्थितिकी तंत्र की भागीदारी’ के माध्यम से ‘संचालन, रखरखाव और बुनियादी ढांचे के निर्माण’ के क्षेत्र में ‘विस्तार और दक्षता’ लाएगी;
  2. इसका उद्देश्य भारतीय रेलवे की ‘परिचालन दक्षता और सुरक्षा’ में सुधार के लिए ‘भारतीय स्टार्टअप्स/ MSMEs/नवोन्मेषकों/उद्यमियों’ द्वारा विकसित ‘नवोन्मेषी तकनीकों का लाभ उठाना’ है;

यह रेलवे क्षेत्र में सह-निर्माण और सह-नवाचार के लिए देश में ‘नवाचार संस्कृति’ को बढ़ावा देगा।

Leave A Comment

At vero eos et accusamus et iusto odio digni goikussimos ducimus qui to bonfo blanditiis pra